अमानत प्रशिक्षण: एक बेहतर विकल्प है BBOSE

विज्ञापन

बिहार मुक्त विद्यालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE)

 

बिहार मुक्त विद्यालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE)अमानत, रोजगार/स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने वाला एक बेहतर विकल्प है। अमानत के कार्य क्षेत्र में  प्रशिक्षित कार्यबल की भारी कमी है- जो कि भविष्य में और अधिक बढ़ेगी। पूरे राज्य में अमीन की प्रशिक्षण उच्च कोटि का गुणवत्तापूर्ण, मानक स्तर का प्रशिक्षण कार्यक्रम उपलब्ध नहीं है। इसके अतिरिक्त ऐसी कोई सरकारी/गैर सरकारी संस्था नहीं है जो कि इस कार्यक्रम को प्रशिक्षण विशेष रूप से दे रही हो और उसके पश्चात् प्रशिक्षणार्थियों की परीक्षा लेकर उन्हें एक सरकारी प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र निर्गत कर सके जिसकी सर्वत्र मान्यता हो। इस कमी को दूर करने के लिए सरकारी संस्था बिहार मुक्त विद्यालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE), पटना द्वारा राज्य में अमानत प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।

     उद्देश्यः-

  •   राज्य के युवा कार्यबल को प्रशिक्षित कर अमानत के क्षेत्र में रोजगार/स्वरोजगार के अवसर प्रदान कराना।
  •   प्रशिक्षित अमीनों की कमी के कारण भू-विवाद, उससे बिगड़ रही विधि-व्यवस्था में सुधार कराने में सकारात्मक योगदान।
  •    पराज्य के आर्थिक विकास में योगदान।
  •    गुणवत्तापूर्ण अमीन एवं सर्वेयरों का निर्माण करना।

विज्ञापन

 

पाठ्यक्रम की अवधि:-

 यह प्रशिक्षण कार्यक्रम कुल 400 घंटों का होगा जिसे 6 माह की अवधि में पूरा किया जाएगा। कुल 400 घंटों के प्रशिक्षण कार्यक्रम में से 60 प्रतिशत समय (240 घंटे) प्रायोगिक कक्षाओं के लिए होंगे और 40 प्रतिशत समय (160 घंटे) सैद्धांतिक कक्षाओं के लिए होंगे ।

 पात्रता/योग्यता:-

  • माध्यमिक उत्तीर्ण (10वीं पास) छात्र-छात्राएँ इस पाठ्यक्रम में नामांकन ले सकते हैं। (बिहार सरकार के अधीन अमीन के रूप में बहाली हेतु न्यूनतम योग्यता 12वीं कक्षा पास होना चाहिए। निजी क्षेत्र में अमीन के रूप में बहाली हेतु न्यूनतम 10वीं कक्षा पास होना चाहिए।
  • इस पाठ्यक्रम में प्रवेश हेतु अधिकतम कोई उम्र सीमा निर्धारित नहीं है।

शुल्क:-

प्रशिक्षण शुल्क 10000 (दस हजार) रूपये प्रति शिक्षार्थी एक मुस्त देय होगा। परीक्षा शुल्क अलग से देय होगा। परीक्षा शुल्क प्रति सैद्धांतिक विषय रू0 175/- (एक सौ पचहत्तर) एवं प्रति प्रायोगिक विषय के लिए रू0 200/- (दो सौ) देय होगा जो मुख्य कार्यकारी पदाधिकारी, बि0 मु0 वि0 शि0 एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE), पटना के पक्ष में  देय है।
  विज्ञापन

परीक्षा एवं प्रमाणीकरण:-

छः माह का अमानत (अमीन) प्रशिक्षण कार्यक्रम के पश्चात् बोर्ड के द्वारा सार्वजनिक परीक्षा का आयोजन कर प्रमाणपत्र निर्गत किया जायेगा

अमीन पाठ्यक्रम के लाभ:-

  • राज्य में सरकारी/गैर सरकारी क्षेत्रों में अमीनों की भारी कमी जो कि निकट भविष्य में और अधिक बढ़ेगी।
  • बिहार सरकार के राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, वन एवं पर्यावरण विभाग, नगर निगम, नगर निकाय एवं अन्य ऐसे विभाग जिन्हें भूखण्ड मापी की आवश्यकता है, में हजारों पदों पर अमीन की बहाली के लिए स्वर्णिम अवसर।
  • निजी क्षेत्रों में प्राइवेट अमीनों की प्रतिमाह भारी आमदनी के अवसर।
  • राज्य में पहली बार सरकारी संस्थान के माध्यम से अमीन के उच्च गुणवत्तापूर्ण मानक स्तर का प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन एवं प्रमाणीकरण, जो सर्वत्र मान्य है।
  • अमीन प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का विकास प्प्ज्ए छप्ज् एवं विश्वविद्यालयों के प्रख्यात शिक्षाविदों एवं राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, बिहार सरकार के पदाधिकारियों के द्वारा संयुक्त रूप से बिहार राज्य के लिए विकसित।
  • सैद्धांतिक विषयों के लिए सरकारी/गैर सरकारी माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों, सरकारी/गैर सरकारी पोलिटेकनिक, राष्ट्रीय प्रोद्योगिकी संस्थान (NIT), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (ITI) ख्याति प्राप्त विश्वविद्यालयों के स्नातकोत्तर भूगोल विभाग, महाविद्यालयों के स्नातक के भूगोल विभाग, नालन्दा खुला विश्वविद्यालय (NOU) में अध्यापन करवाने वाले शिक्षकगण, स्नातकोत्तर एवं शोध शिक्षार्थियों के माध्यम से प्रशिक्षण।
  • राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर के ख्याति प्राप्त भौगोलिक संस्थानों के प्रयोगशालाओं के महँगे और उच्च गुणवत्ता वाले उपकरणों/प्राध्यापकों के द्वारा 100 घंटे की प्रायोगिकी प्रशिक्षण की व्यवस्था राज्य सरकार के अंचलधिकारी कार्यालय में 70 घंटे की प्रायोगिकी प्रशिक्षण/इंटर्नशिप एवं उन्हीं के द्वारा प्रयोगिक प्रशिक्षण का गुणवत्तापूर्ण मूल्यांकन।
  • छः माह का अमानत (अमीन) प्रशिक्षण कार्यक्रम और तत्पश्चात बोर्ड के द्वारा परीक्षा का आयोजन। परीक्षा पश्चात बोर्ड का सर्टिफिकेट दिया जायेगा , जो सर्वत्र मान्य है।
  • ‘5’ वर्ष तक पंजीकरण वैध – ‘9’ बार परीक्षा दे सकते हैं।
  • सबसे कम शुल्क मात्र 10000/-(दस हजार) रूपये में प्रशिक्षण उपलब्ध।
  • घर बैठे नौकरी/स्वरोजगार करते हुए अन्य शिक्षण/प्रशिक्षण करते हुए भी अमीन कार्यक्रम में प्रशिक्षण लें सकते हैं।

विज्ञापन

 

 

 

 

स्रोत:-बिहार मुक्त विद्यालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE)

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Close
Close

Website Design By Newsabc